Press "Enter" to skip to content

सांस लेना भी एक कला है : कोरोना से बचायेगी सॉंस का रहस्य

नई दिल्ली। करोना के कारण एक तरफ़ तो देश में ऑक्सीजन की कमी को लेकर हाहाकार मचा है, दूसरी ज़्यादातर लोग ठीक तरह से साँस लेना भी नहीं जानते, क्यूँकि साँस लेना ही एकमात्र ऐसा काम है, जो हम बग़ैर सोचे करते रहते हैं। जिसे आप हवा अंदर लेना और बाहर निकालना मात्र समझते हैं, दरअसल उस साँस के पीछे ऐसे हज़ारों रहस्य छिपे हैं, जिनकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते। साँस का पूरा विज्ञान होता है, जो न्यूटन के नियम जितना ही साइंटिफिक है। ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को इसका लाभ हो, इस उद्देश्य से Amazon पर मौजूद इस पुस्तक “ Saans ke rahasya – jo chahen, so payen” को 24-25 अप्रैल के लिए बिल्कुल मुफ़्त कर दिया गया है। किंडल ऐप पर मुफ़्त डाउनलोड किया जा सकता है।

लिंक पर क्लिक कर पुस्तक को निशुल्क डाउनलोड किया जा सकता है।  

पुस्तक को डाउनलोड करने के लिये क्लिक करें

पुस्तक को डाउनलोड करने के लिये क्लिक करें


         प्रख्यात पत्रकार राजीव सक्सेना द्वारा लिखित इस पुस्तक के सांस के विज्ञान को सरल शब्दों में समझाया गया है, पुस्तक को पढकर कोई भी व्यक्ति ना केवल सांस के गहरे रहस्य को जान सकता है बल्कि अपने जीवन को उत्कृष्ट बना सकता है।